Posts

रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद के बीच एक दुर्लभ बातचीत

* रामकृष्ण परमहंस *
और
*स्वामी विवेकानंद* के  बीच एक दुर्लभ बातचीत

* 1। स्वामी विवेकानंद *: - मुझे खाली समय नहीं मिल सकता है जीवन व्यस्त हो गया है
* रामकृष्ण परमहंस *: - गतिविधि आपको व्यस्त रखती है लेकिन उत्पादकता आपको मुफ्त में मिलती है

* 2। स्वामी विवेकानंद: - क्यों जीवन अब जटिल हो गया है?
* रामकृष्ण परमहंस: - * जीवन का विश्लेषण रोकें ... यह जटिल बनाता है इसे जियो।

* 3। स्वामी विवेकानंद *: - हम क्यों लगातार नाखुश हैं?
* रामकृष्ण परमहंसः * - चिंता करने की आपकी आदत हो गई है। यही कारण है कि आप खुश नहीं हैं

चायवाले की बेटी आंचल का वायु सेना में चयन, उड़ाएगी फाइटर प्लेन

एक एसडीएम की कहानी

लघु कथा "परकटी आंटी"

This is Also A Form of God

एक रूप भगवान का ऐसा भी

माँ के आँसू ...

सीख...

खुशी अगर बांटना चाहो तो तरीका भी मिल जाता है...

जानें, महान गणितज्ञ ‘लीलावती’ वो पेड़ के पत्ते तक गिन लेती थी...